9 Reason Of Don’t Invest in IPO

IDEAL STOCK. Primary market में फिर चहल-पहल शुरू हो गई है. विभिन्न Sectors की कई Companies के IPO दस्तक देने के लिए कतार में खड़े हैं. इसके अलावा कई कंपनियों ने Market regulator से पास अपनी याचिका स्वीकृति के लिए भी भेज रखी है. लेकिन, यह बुलबुला उम्मीद से जल्दी फूट जाएगा. इस सप्ताह Government company IRCON International का 470 करोड़ रुपये का IPO आया था. IPO दूसरे ही दिन पूरा सब्सक्राइब हो गया. अंतिम दिन तक इसे 10 गुना तक का सब्सक्रिप्शन मिला. अगले सप्ताह आवास फाइनेंसर्स का 1,734 करोड़ रुपये IPO Primary market में पेश होगा. इसके अलावा आंकड़े बताते हैं कि अगस्त में 11 कंपनियों ने सेबी के पास अपने आईपीओ के लिए ड्राफ्ट पेपर जमा किए हैं, जिसमें कुल 7,000 करोड़ रुपये जुटाने की बात की गई है.

इन्हे सभी समाचारो के चलते IDEAL STOCK ने IPO में इन्वेस्ट न करने के सुझाव देती हैं.

1. ये आईपीओ उस समय पेश हो रहे हैं, जब बाजार की स्थिति ठीक नहीं है.

2.ट्रेड वॉर, कच्चे तेल की महंगाई, नरम व्यापक आर्थिक संकेत.

3.रुपये की सुस्ती के साथ-साथ आगामी चुनावों की सुगबुगाहटों के कारण बीएसई का सेंसेक्स अपने रिकॉर्ड स्तर से काफी नीचे खिसक आया है.

4. बाजार में अस्थिरता बढ़ सकती है.

5. आर्थिक विकास सुस्त है. चुनावी माहौल का बनाना.

6. मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों ही हालिया गिरावट.

7. शेयर बाजार में कमजोरी के चलते इसमें दिलचस्पी घटने की आशंका है. इससे निवेशकों के बीच उत्सुकता कम होना.

8. पिछले एक महीने में वैलुएशन काफी घट गई है. कंपनियां अपने आईपीओ को टाल सकती हैं. जिन कंपनियों के आईपीओ पेश होंगे, उन्हें भी खास प्रतिक्रिया मिलने के आसार कम ही हैं.

9. आईपीओ पेश करने वाली कंपनियों के सेक्टर्स की हालत अच्छी न होना.

इन सभी कारणों के चलते आप आईपीओ में Invest न ही करे तो बेहतर होगा लकिन बाजार की अस्थिरता को देखते हुए ये बहुत ही सही अवसर हैं  Intraday Equity Market से लाभ कमाने का तो आइये और अपने इन्वेस्टमेंट को सफल बनाइये Intraday market  सुझाव के लिए यहाँ क्लिक करे :- Click Here

Market के गोता लगाने के बाद क्या करें | ideal stock

शुक्रवार को घरेलू कंपनियों के शेयरों ने गोता लगा दिया। मार्केट में गिरावट की अगुवाई अगली पंक्ति के कुछ बैंकों और हाउसिंग फाइनैंस कंपनियों ने की जिन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ा। शुक्रवार को ट्रेंडिंग में इतना उथल-पुथल मचा हुआ था कि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के 31 शेयरों का सूचकांक सेंसेक्स 1,500 अंक तक टूट गया और मिनटों में इसने 800 से ज्यादा अंकों की मजबूती भी हासिल कर ली। मार्केट एक्सपर्ट्स कच्चे तेल की ऊंची कीमतें, रुपये की कमजोरी और वैश्विक बाजार की गिरावट को इसकी वजह बताई। इनके अलावा, उन्होंने अचानक आई इतनी बड़ी गिरावट का जिम्मेदार आईएलऐंडएफएस में वित्तीय संकट और यस बैंक के शेयरों के पिटने को बताया। मार्केट एक्सपर्ट्स सितबंर महीने में ही सूचकांकों में आई 2,000 पॉइंट्स से ज्यादा की आई गिरावट के मद्देनजर कुछ सलाह दे रहे हैं…


Fundamental view

यह किसी Technical saleoff जैसा जान पड़ता है। कुछ नॉन-बैंकिंग फाइनैंशल कंपनियों (NBFC) ने बताया था कि उनका Short Term Liquidity Situation
बहुत अच्छा है। जब मैं short term की बात कर रहा हूं अगले एक वर्ष तक के दायित्वों के निर्वहन के लिहाज से उनके अकाउंट में काफी कैश पड़े हुए हैं।  अगर आप सच में कंपनी को समझते हैं और आपको इसके मैनेजमेंट पर भरोसा है तो आपके पास इनके शेयर खरीदने का शानदार मौका है। जब कभी भी मैनेजमेंट मजबूत दिखता है, वह अचानक आई आफतों का डटकर मुकाबला करता है और इससे पार पाते हुए और मजबूत बनकर उभरता है।
जहां तक रुपये की बात है, तो याद कीजिए 2014 में रुपया डॉलर के मुकाबले 70 पर था। 2017 में यह 63 पर आ गया और फिर 63 से 72 पर चला गया। अब आप 63 से 72 की यात्रा देखेंगे तो आपको लगेगा कि रुपया 12 प्रतिशत टूट गया है,
लेकिन हम इसकी 2014 के स्तर से करते हैं और तब इसमें महज 3 से 4 प्रतिशत की गिरावट ही है।

Technical view

मार्केट की पहली चीज है- कीमतें और दूसरी- अर्निंग्स और सभी फंडामेंटल्स। इसलिए, जब कीमतें 50 से 55 प्रतिशत तक गिर जाएं तो हम सबसे पहले यह देखना चाहते हैं कि क्या कोई कोई बड़ी समस्या है और अगर ऐसा नहीं है तो यह गिरावट
प्रतिक्रिया स्वरूप आई है। अगर आपके पास अच्छी कंपनियों के शेयर हैं, तो आपको कीमतों की बहुत चिंता नहीं होगी। नॉन-बैंकिंग फाइनैंशल कंपनियों के कारोबार में अक्सर कहा जाता है कि आपको सर्वोत्तम के साथ टिके रहना होता है। अगर आप अच्छे क्वॉलिटी शेयर खरीद रहे हैं और इनके भाव गिर जाएं तो आपको और शेयर खरीदने चाहिए। लेकिन, हम जैसे लोगों ने पहले से ही निवेश कर रखा है। अब इसमें डालने के लिए कुछ है नहीं। अक्टूबर रिजल्ट आने के बाद अच्छे शेयर मजबूती हासिल करेंगे। फिलहाल, अभी जो कीमतें दिख रही हैं, वह आपको परेशान कर रही होंगी, जैसा कि मुझे कर रही हैं।

पाइए शेयर बाजार सुझाव (Share Market tips)सबसे पहले ideal stock पर। ideal stock से स्टॉक मार्किट टिप्स (stock market tips) अपने मोबाइल पर पाने के लिए विजिट करे www.idealstock.in और रहें हर स्टॉक से अपडेट।

Friday Trade in ITC.ltd and JSWSTEEL

IDEAL STOCK सुझाव देते हैं कि JSW Steel Limited के शेयर रूपये 437.0 के TARGET पर खरीदे  JSWSTEEL का CURRENT PRICE 417.6 है. IDEAL STOCK ने इसकी समयावधि INTRADAY की है, जब JSWSTEEL की कीमत अपने TARGET  तक पहुंच सकती है.

IDEAL STOCK सुझाव देते हैं कि ITC Ltd. के शेयर रूपये 315.0 के TARGET पर खरीदें . ITC Ltd. का CURRENT PRICE 300.00 है .IDEAL STOCK ने इसकी समयावधि INTRADAY की है, जब आईटीसी लि. की कीमत अपने निर्धारित लक्ष्य तक पहुंच सकती है.

Get More Tips Visit:Intraday stock trading tips 

5 reasons for getting lose in market

It’s Not Just Trading, It’s A War Between The Market And Us.

Trading during the first half-hour of the session.

The first half-hour of the trading day is driven by emotion, affected by overnight movements in the global markets, and hangover of the previous day’s trading. Also, this is the period used by the market to entice novice traders into taking a position which might be contrary to the real trend which emerges only later in the day. Most experienced traders simply watch the markets for the first half of the day for intraday patterns and any subsequent trading breakouts.

Failing to hear the market’s message.

Personally, I try to hear the message of the stock markets and then try to confirm it with the charts. During the trading day, I like to watch if the market is able to hold certain levels or not. I like to go long around the end of the day if supported by patterns, and if the prices are consistently holding on to higher levels. I like to go short if the market is giving up higher levels, unable to sustain them and the patterns support a down move of the market. This technique is called tape watching and all full-time traders practice it in some shape or form. If the markets are choppy and oscillate within a small range, then the market’s message is to keep out. Hearing the message of the market can be particularly important in times of significant news. The market generally reacts in a fashion contrary to most peoples’ expectation. Let us consider two recent Indian events of significance. One was the Gujarat earthquake that took place on 26 January 2001 and the other the 13 December 2001 terrorist attack on the Indian parliament. Both these events appeared catastrophic at first glance. TV channels suggested that the earthquake would devastate the country’s economy because Gujarat has the largest number of investors and their confidence would be shattered, making the stock market plunge. Tragic as both the events were, the market reacted in a different way to each by the end of the day. In both cases the markets plunged around 170 points when it opened, in both cases it tried to recover and while it managed a full recovery in the case of the Gujarat earthquake, it could not do so in the Parliament attack case. The market was proven correct on both counts. The Gujarat earthquake actually held the possibility of boosting the economy as reconstruction had to be taken up, and also because most of the big installations, including the Jamnagar Refinery, escaped damage. In the case of the attack on parliament, although traders assessed that terrorist attacks were nothing new in the country the market did not recover because it could see some kind of military build-up ahead from both India and Pakistan. And markets hate war

and uncertainty. In both these cases what helped the cause of the traders were the charts. If the charts say that the market is acting in a certain way, go ahead and accept it. The market is right all the time. This is probably even truer than the more common wisdom about the customer being the king. If you can accept the market as king, you will end up as a very rich trader, indeed. Herein lies one reason why people who think they are very educated and smart often get trashed by the market because this market doesn’t care who you are and it’s certainly not there to help you. So expect no mercy from it; in fact, think of it as something that is there to take away your money, unless you take steps to protect yourself.

Ignoring which phase the market is in

It is important to know what phase the market is in — whether it’s in a trending or a trading phase. In a trending phase, you go and buy/sell breakouts, but in a trading phase you buy weakness and sell strength. Traders who do not understand the mood of the market often end up using the wrong indicators in the wrong market conditions. This is an area where humility comes in. Trading in the market is like a blind man walking with the help of a stick. You need to be extremely flexible in changing positions and in trying to develop a feel for the market. This feel is then backed by the various technical indicators in confirming the phase of the market. Undisciplined traders, driven by their ego, often ignore the phase the market is in.

Failing to reduce position size when warranted

Traders should be flexible in reducing their position size whenever the market is not giving clear signals. For example, if you take an average position of 3,000 shares in Nifty futures, you should be ready to reduce it to 1,000 shares. This can happen either when trading counter trend or when the market is not displaying a strong trend. Your exposure to the market should depend on the market’s mood at any given point in the market. You should book partial profits as soon as the trade starts earning two to three times the average risk taken.

Failing to treat every trade as just another trade

Undisciplined traders often think that a particular situation is sure to give profits and sometimes take risk several times their normal level. This can lead to a heavy drawdown as such situations often do not work out. Every trade is just another trade and only normal profits should be expected every time. Supernormal profits are a bonus when they — rarely! — occur but should not be expected. The risk should not be increased unless your account equity grows enough to service that risk.

Try Ideal Stock Free For 2 Days! get at any time, and learn how to earn the profit in the stock market with Trusted Investment Advisor. Get quick Profit Booking, market strategies, market updates, and more. visit now :- www.idealstock.in (we respond after research)

7 quality growth stocks

After a brief correction that brought some sanity to the market, investors are back to chasing growth stocks. They are ready to pay any price for companies where growth is clearly visible.

As a result, valuations have reached stratospheric levels. Page Industries, which notched up an impressive 21% compounded annual growth in net profits in the past three years is trading at a PE of nearly 100.

ideal stock

Astral Poly Technik, which saw profits grow at a compounded rate of 32%, is trading at 70 times its earnings per share. If the stock is of good quality, should one look at the valuation? After all, a good quality stock will always command a hefty premium. “If you are right on the growth part, a slightly higher valuation would not do harm. For example, HDFC Bank was quoting around 25 PE in its initial years and ignoring it because it was valued higher than other banks would have been a big mistake ..

Even so, investors are paying too high a premium for quality right now. Even a good stock can be a bad investment at a very high price. You won’t make money from these stocks if you buy them at unreasonable prices. It is what experts call, Growth At Stupid Prices or GASP.

We looked at five stocks that could leave you gasping for breath. Most analysts expect them to churn out poor returns in the next 12 months.

Jamna Auto Industries 
Current share price 80.25 
1 year TGT
112.60

Kalpataru Power
Current share price 327.05
1 year tgt 506.70

KEC International Ltd
Current share price 307.00
1 year tgt
411.45

CESC Ltd
Current share price 988.25
1 year tgt
1167.55

Indiabulls Housing Finance Ltd
Current share price 1,190.95 
1 year tgt
1573.30

UPL
Current share price 724.15
1 year tgt
814.60

Suprajit Engineering Ltd
Current share price 243.60 
1 year tgt
297.20

get intraday calls equity & derivative market 
click here 

Crude Oil Today: कच्चे तेल में लौटी तेजी

IDEAL STOCK. कच्चे तेल की कीमतों में तेजी लौट आई है. वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड का भाव 8 सेंट की मजबूती के साथ 78.17 डॉलर प्रति बैरल के आसपास है, जबकि नायमैक्स पर अमेरिकी कच्चे तेल के बेंचमार्क का भाव 9 सेंट की मजबूती के साथ 69.09 डॉलर प्रति बैरल के आसपास पहुंच गया है. वहीं घरेलू वायदा बाजार यानी MCX पर कच्चे तेल का भाव एक फीसदी से ज्यादा की तेजी के साथ 5,000 के पार पहुंच गया है.

ideal stock

हालांकि आज शुरुआती कारोबार में कच्चे तेल में गिरावट देखने को मिली थी. आज शुरुआती कारोबार में विदेशी बाजार में ब्रेंट का भाव करीब 16 सेंट की गिरावट के साथ 78 डॉलर के नीचे लुढ़क गया था. इसी तरह आज शुरू में WTI क्रूड का भाव 20 सेंट की नरमी के साथ 68.79 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया था.

कच्चे तेल की कीमतों में तेजी कितनी टिकाऊ ?

जानकारों का कहना है कि ईरान से सप्लाई घटने की आशंका के चलते कच्चे तेल की कीमतों में तेजी बनी हुई है. जानकारों का ये भी कहना है कि आगे कीमतों में नरमी के संकेत दिख रहे हैं. दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन पर फिर से करीब 200 अरब डॉलर मूल्य के सामानों के आयात पर शुल्क लगाने के संकेत दिये हैं. इस वजह से कच्चे तेल की कीमतों में नरमी के आसार हैं.

INTRADAY CRUDE OIL LEVEL :- BUY CRUDEOIL ABOVE 5030 TGT 5050-5070-5090 SL 4990

GET MORE VISIT :- INTRADAY COMMODITY TIPS

इसके अलावा अमेरिका में कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ने का अनुमान है. आंकड़ों के मुताबिक, बीते हफ्ते अमेरिकी तेल कंपनियों ने दो आॉयल रिग्स जोड़े हैं. ऑयल रिग्स का इस्तेमाल कच्चे तेल के उत्पादन में होता है. फिलहाल अमेरिका में ऑयल रिग्स की संख्या 749 पर पहुंच गई है. घरेलू बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में सपोर्ट की सबसे बड़ी वजह रुपये की गिरावट है.

शेयर बाजार सुझाव के लिए आपकी जानकारी अपडेट करें जानकारी अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

JINDALSTEL BUY RUPESS 243 TGT

IDEAL STOCK सुझाव देते हैं कि JINDALSTEL के शेयर रूपये 243.0 के लक्ष्य मूल्य पर खरीदें . जिंदल स्टील एंड पॉवर लि. . का मौजूदा बाजार मूल्य रूपये 233.5 है .मार्केट एक्सपर्ट ने इसकी समयावधि INTRADAY तय की है, जब जिंदल स्टील एंड पॉवर लि. की कीमत अपने निर्धारित लक्ष्य तक पहुंच सकती है. निवेशकों को IDEAL STOCK की हिदायत है कि वे STOP LOSS रुपये 225 रखें और इसका सख्ती से पालन करें.

जिंदल स्टील एंड पॉवर लि., आयरन एंड स्‍टील क्षेत्र में सक्रिय, साल 1979 में निगमित, एक लार्ज कैप कंपनी है (मार्केट कैप – Rs 22601.55 करोड़) |

समाप्ति तिमाही 30-06-2018 के लिए, कंपनी द्वारा रिपोर्टेड संगठित बिक्री – Rs 9539.60 करोड़ है, 11.93 % ऊपर, अंतिम तिमाही की बिक्री-Rs 8522.79 करोड़ से, और 70.12 % ऊपर पिछले साल की इसी तिमाही की बिक्री – Rs 5607.57 करोड़ से| नवीनतम तिमाही में कंपनी का Rs 109.89 करोड़ का रिपोर्टेड टैक्स पश्चात शुद्ध मुनाफा है|

30-06-2018 को, कंपनी के कुल, 967,946,379 शेयर बकाया है|

शेयर बाजार सुझाव के लिए आपकी जानकारी अपडेट करें जानकारी अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

Sugar Sector outperforming could give 100 – 250% return

The Ideal Stock strategy should be to reduce weak long positions above 11,600, but the sectorial rotation is not ruled out. In the previous week, sugar sector was the outperforming sector. Price and volume action is suggesting us that the current up move is here to stay.

ideal stock

Volume in many scripts of this sector was abnormally high. Especially, companies related to, ethanol have witnessed huge buying interest with a spurt in volumes on Friday. For the coming week, we would like to cover few of these stocks in detail.

For investors, the sugar sector has relatively underperformed since 2006. However, those who bought them during stressed periods and sold in the most optimistic times, have earned multifold returns in a very short span of time. Very few of these stocks have offered significant returns and have held at high levels for a considerable period for e.g. Upper Ganges, Oudh Sugar, and Andhra Sugar.

Today, we are going to cover those stocks which are still trading at the lower boundary of the broader trading range and have significant upside in coming months.

Here is a list of top three stocks which could give 100-250% return in the next 1 month:

Bajaj Hindusthan: Buy | LTP: Rs 8.52 | Target: Rs 30 | Stop Loss: Rs 5 | Time 2-4 months | Return: 250%

From 2003 to 2006, the said stock has delivered 140x returns. It rose from Rs 3.40 to Rs 484 in a span of just 3 years. However, since then the stock has remained under gradual weakness and has crashed to almost same levels in the month of July 2018.

However, volume and price action of the last few months is suggesting us that the stock has entered into bullish consolidation phase (Higher bottom on the Monthly chart and Inverted head & shoulders) on daily charts.

It could lift the stock to a minimum Rs 12 and maximum of Rs 30 in the next 2-4 months. Investors should keep a stop loss at Rs 5 for all long positions.

Dhampur Sugar Mills: Buy| LTP: Rs 117 | Target: Rs 250 | Stop Loss: Rs 70 | Time 2-4 months | Return 113%

In the year 2017, the stock has managed to surpass the highs of 2006, which was placed at Rs 271. However, the move remained short-lived and the stock corrected sharply, by almost 80 percent from the highs of Rs 330.

Starting May 2018, the stock has been trading in a tight range, leading to a bullish breakout in the previous week. We expect the stock to test Rs 200-250 levels in the next 2-4 months. Investors can keep a stop loss placed at Rs 70 for all long positions.

Praj Industries: Buy | LTP: Rs 107.45 | Target: Rs 190-225 | Stop Loss: Rs 80 | Time 2-4 months | Return 70-110%

The stock has been forming a rectangle formation since 2009. The stock witnessed a dream run between 2003 and 2007. However, since then along with other stocks, it cracked to the extreme level of Rs 50 in the year 2009.

The broader formation is suggesting us that the stock has formed a rectangle formation between Rs 122 and 50. If the stock breaches Rs 125 then we expect a technical break out, which could lift the stock to Rs 190-225 levels in the next couple of months. Investors should keep a stop loss below Rs 80 for all long positions.

 

आर्इटी शेयरों के भाव तीन साल के ऊंचे स्तर पर

आपको क्या करना चाहिए?

 

रुपये की कमजोरी ने जहां कर्इ कंपनियों के पसीने छुड़ा रखे हैं, वहीं कुछ को इसने खूब फायदा पहुंचाया है. आर्इटी सेक्टर की कंपनियों को रुपये की कमजोरी से फायदा हुआ है. इस क्षेत्र की कर्इ छोटी और मध्यम आकार की कंपनियों के शेयरों में 52
हफ्तों के ऊंचे स्तर पर कारोबार हो रहा है. इसने इनके ट्रेलिंग प्राइस-टू-अर्निंग रेशियो (पी/र्इ) या यूं कहें कि वैल्यूएशन को तीन साल के शिखर पर पहुंचा दिया है.

पी/र्इ रेशियो यानी मूल्य और आय का अनुपात किसी शेयर में निवेश करने का फैसला लेने में मदद करता है. इसकी मदद से आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसी शेयर के भाव बढ़ने की कितनी संभावना है.

देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के शेयरों में 21.7 के तीन साल के औसत पी/र्इ के मुकाबले 28.7 पर कारोबार हो रहा है. इंफोसिस और विप्रो सहित अन्य टॉप आर्इटी स्टॉक भी अपने तीन साल के औसत से 10 फीसदी ज्यादा पर कारोबार कर रहे हैं.+

 

इसे भी पढ़ें : क्यूमिन्स इंडिया लि. खरीदें रुपये 820 के लक्ष्य पर.

कंपनी के पास बहुत ज्यादा नकदी का होना अच्छा नहीं माना जाता है. इससे यह माना जाता है कि कंपनी अपनी नकदी का इस्तेमाल नहीं कर पा रही है. शेयर बायबैक के जरिए कंपनी अपनी अतिरिक्त नकदी का इस्तेमाल करती है.

इसे भी पढे़ं : सोमवार मार्किट के लिए रहे तैयार लीजिये हमसे सुझाव.

गणेश चतुर्थी के उपलक्ष्य में गुरुवार को बाजार बंद थे. बुधवार को रुपया लुढ़ककर 72.19 के स्तर पर पहुंच गया था. 2018 की शुरुआत से इसमें 11.5 फीसदी की गिरावट आ चुकी है.

रुपये के कमजोर होने से निर्यातकों को फायदा होता है. भारतीय मुद्रा में एक फीसदी गिरावट से आर्इटी कंपनियों का आपरेटिंग मार्जिन 0.35-0.40 फीसदी बढ़ जाता है.

हालांकि, आर्इटी कंपनियों का मौजूदा वैल्यूएशन काफी ज्यादा दिख रहा है, लेकिन निवेशक इन कंपनियों में निवेश जारी रख सकते हैं. कारण है कि निकट भविष्य में रुपये में और गिरावट आने की आशंका है.

शेयर बाजार सुझाव के लिए आपकी जानकारी अपडेट करें जानकारी अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

 

गणेश चतुर्थी पर stock market में लीजिये लाभ

ideal stock

आइडियल स्टॉक सुझाव देते हैं कि हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लि. के शेयर रूपये 322.0 के लक्ष्य मूल्य पर खरीदें . हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लि. . का मौजूदा बाजार मूल्य रूपये 237.75 है .मार्केट एक्सपर्ट ने इसकी समयावधि ईयर तय की है, जब हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लि. की कीमत अपने निर्धारित लक्ष्य तक पहुंच सकती है.

हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लि., धातुएं – नॉन फेरस क्षेत्र में सक्रिय, साल 1958 में निगमित, एक लार्ज कैप कंपनी है (मार्केट कैप – Rs 53383.18 करोड़) |

समाप्ति तिमाही 30-06-2018 के लिए, कंपनी द्वारा रिपोर्टेड स्टैंडअलोन बिक्री – Rs 10593.21 करोड़ है, -9.31 % नीचे, अंतिम तिमाही की बिक्री-Rs 11681.10 करोड़ से, और 8.43 % ऊपर पिछले साल की इसी तिमाही की बिक्री – Rs 9770.04 करोड़ से| नवीनतम तिमाही में कंपनी का Rs 413.53 करोड़ का रिपोर्टेड टैक्स पश्चात शुद्ध मुनाफा है|
30-06-2018 को, कंपनी के कुल, 2,245,051,892 शेयर बकाया है|

और अधिक ट्रेडिंग सुझाव के लिए हमारे फ्री ट्रायल के पेज पर आइये :- Intraday Stock Tips

  • 1
  • 2