Browse Tag

IDEAL STOCK

These stocks can be great earnings this DIWALI MONTH.

IDEALSTOCK | Last week the domestic share markets made a good comeback. Sensex reached 35,000 and Nifty 50 index crossed 10,500. Bad October is expected to be better for the November market.

The top 10,700 and 10,840 levels will be important, while the bottom 10,290 will have to be watched. “Talking to select analysts, IDEALSTOCK some stocks that can give you a great return in November:

Tata Steel | Buy | Target Price: Rs 605 Stop loss: Rs 552

This stock has shown better robustness than the metal index and the major index. There are strong concrete
signals in this. There seems to be a better performance than the market. It’s your 50 business sessions Average support is available.

Read also :- OPENING BELL WITH MORNING INTRADAY CALLS

Hindalco | Buy | Target price: Rs 259. Stop loss: Rs 227

This stock has broken the scope of 230-210 rupees due to strong volumes. At the level of 230 rupees, this stock can reach up to 260 rupees. Businessmen can buy this fall.

DCB Bank | Buy | Target Price: Rs 170 Stop loss: Rs 152

This stock has built its base around the level of Rs 140. It has the power to achieve a level of Rs 173. This
has affected it in the current boom. Businesses can earn tax by investing in it.

Read also :- RESISTANCE AND SUPPORT | ZINC & COPPER

Cell | Buy | Target price: 77 rupees. Stop loss: Rs 66.

This stock has consistently declined. It has recently set its base around Rs. 61. This stock can reach up to 77 rupees if it is above 67 level.

Maruti Suzuki | Buy | Target price: 7,700 rupees. Stop loss: Rs 6,800

After the rupee slumped to below the level of Rs 6,500, this stock came back very well. Due to the better
volume, it has broken its limited scope. This stock is supported by an average of 13 trading sessions. this

The stock is giving positive signals.

Read also :- Diwali Dhamaka Calls | Hogi DHANAVARSHA

Excel Crop Care | Buy | Target Price: Rs 4,650 Stop loss: Rs 3,600

On Friday, this stock performed better than the average. Because of this, the five-week high performance has reached. Other technical hints are also favoring this share. The average of 14 business sessions to buy Is pointing.

CG Power | Buy | Target price: Rs 43. Stop loss: Rs 35.50

This stock has declined for five weeks. But now it is recovering from it. It can cross the scope of its entire
decline. This stock is showing signs of solid acceleration.

HDFC | Buy | Target price: Rs 1,910-1,930 Stop loss: Rs 1,739

The continuous decline had rolled this stock up to Rs 1,740. This stock has returned to the weekly charts. This stock will be stronger than the better volume. On daily charts, it crossed the level of Rs 1,780. Other indicators of this stock are also pointing towards the speed.

Sterlite Technologies | Buy | Target Price: Rs 390-400. Stop loss: Rs 354

According to the weekly charts, this stock was constantly fluttering between levels of 370-270 rupees. Because the volume remained strong, the centimeter became stronger and stronger. This stock is steadily rising upwards Used to be. In the near future, it can make great earnings.

Read also :- Why can L & T shares come up to 40% faster?

Raymond | Buy | Target Price: Rs 790-805 Stop loss: Rs 729

The strength of the past week has put a break on the share of this stock. After the level of Rs 693, it has made a great return. Its better volumes also point to its speed. Also on weekly charts Its position is strong. It can continue fast.

Try Ideal Stock Free For 2 Days! get at any time, and learn how to earn the profit in the stock market with Trusted Investment Advisor. Get quick Profit Booking, market strategies, market updates, and more. by click submit accept all the T&C*

Why can L & T shares come up to 40% faster?

Ideal Stock Research Group are confident about the shares of Larsen and Toubro (L & T). According to him, stocks of L & T could rise up to 15 to 40 per cent. The company had delivered better results than expected in the September quarter.

Larsen Ent Tubro has reported an increase of 28 percent in net profits in its results presented on Wednesday. The net profit of the company is Rs 2,593 crore. On Friday, L & T’s shares rose to 1.83 per cent on BSE. On Monday, the shares of the company were broken up to three-fourths of the shares.

we are also provide commodity update :- RESISTANCE AND SUPPORT | ZINC & COPPER

Brokerages believe that the share of the decline is low. Improved recovery of good work and capital expenditure will strengthen the company. CLSA advised to buy shares with target price of Rs 1,730. It is about 30 percent above Monday’s price.

click here for making a profit in the intraday stock market (इंट्राडे स्टॉक मार्किट में प्रॉफिट बुक करने के लिए यहाँ क्लिक):- Good advice for your Trade Stock

 

 

SBI के शेयरों के अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद

IDEAL STOCK  ने एसबीआई के शेयरों में तेजी आने की उम्मीद जताई है. देश के सबसे बड़े बैंक के शेयरों की चाल बदल सकती है. अभी लिक्विडिटी की कमी देखा जा रही है. इसका सबसे ज्यादा फायदा एसबीआई को मिलेगा.

IDEAL STOCK ने कहा है कि सहायक बैंकों का विलय एसबीआई के लिए चुनौती रहा है. लेकिन, हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं. वित्त वर्ष 2019-20 से एसबीआई की कमाई में सुधार देखने को मिल सकता है. इस साल अब तक इस बैंक के शेयर 8 फीसदी गिर चुके हैं. पिछले कुछ सालों में इस शेयर का प्रदर्शन खराब रहा है. कर्ज की कम ग्रोथ, आर्थिक वृद्धि की सुस्त रफ्तार और डूबे कर्ज से जुड़ी समस्याएं इसकी वजह रही हैं.

IDEAL STOCK का मानना है कि अब ज्यादातर समस्याओं का समाधान हो रहा है. इस इनवेस्टमेंट बैंक ने कहा है, “पिछले कई सालों से देखी जा रही चुनौतियां दूर हो रही है. नेट इंटरेस्ट मार्जिन, रिटर्न ऑन एसेट या रिटर्न ऑन इक्विटी में सुधार की उम्मीद है.” इसके मद्देनजर डोएचे ने एसबीआई के शेयरों को खरीदने की सलाह दी है. उसने इसके शेयरों के लिए 365 रुपये का टार्गेट प्राइस दिया है.

IDEAL STOCK ने कहा है कि एसेट क्वलिटी को लेकर एसबीआई की समस्या चरम पर पहुंच गई है. आगे हालात बेहतर होने की संभावना है. उसने अपनी रिपोर्ट में कहा है, “एनसीएलटी के पास जाने वाले मामलों में से कई एसबीआई से जुड़े हैं. इन मामलों के निपटारे से एसबीआई को काफी फायदा होगा. बैंक का कवरेज रेशियो बढ़ा है. यह 53 फीसदी के अच्छे स्तर पर है.”

एसबीआई का वैधानिक तरलता अनुपात (एसएलआर) भी अतिरिक्त 10 फीसदी के स्तर पर है. यह सबसे ज्यादा एसएलआर में से एक है. डोएचने ने कहा है, “ग्रोथ बढ़ने पर एसबीआई उसका फायदा उठाने की बेहतर स्थिति में है. हमें वित्त वर्ष 2021 तक ग्रोथ 15-16 फीसदी के सामान्य स्तर पर लौट आने की उम्मीद है.” गुरुवार को एसबीआई के शेयर के भाव बीएसई पर 285 रुपये के करीब बंद हुए थे.

click here for making a profit in the intraday stock market (इंट्राडे स्टॉक मार्किट में प्रॉफिट बुक करने के लिए यहाँ क्लिक):- Good advice for your Trade Stock

What is Diwali Muhurat Trading

Ideal Stock Muhurat Trading is the notable old custom that is being trailed by the exchanging market from ages. This is the promising one-hour exchanging that is hung upon the arrival of Diwali and the ideal opportunity for the equivalent is indicated by the stock trade each year. It is an old conviction that by doing exchange amid Muhurat exchanging, a dealer or financial specialist will win riches and success the entire year. This session is for the most part held amid the night and a large portion of the dealers purchase stocks amid this time.

“Muhurat” implies a promising time and according to the Hindu date-book, amid this time, the planets adjust themselves in an example and completing an exchange amid this time acquires thriving. A large portion of the merchants exchange amid this time for religious, wistful and customary reasons.

Get Free Intraday Stock Cash F &O tips till Mahurat Trading :- click here

Raymond Ltd — IDEAL STOCK

IDEAL STOCK | रेमन्ड लि. के शेयर रूपये 785.0 के लक्ष्य मूल्य पर खरीदें . रेमन्ड लि. . का मौजूदा बाजार मूल्य रूपये 751.75 है .मार्केट एक्सपर्ट ने इसकी समयावधि इंट्रा डे तय की है, जब रेमन्ड लि. की कीमत अपने निर्धारित लक्ष्य तक पहुंच सकती है. स्टॉपलॉस रुपये 730 रखें और इसका सख्ती से पालन करें.

रेमन्ड लि., टेक्‍सटाइल क्षेत्र में सक्रिय, साल 1925 में निगमित, एक मिड कैप कंपनी है (मार्केट कैप – Rs 4614.31 करोड़) |

STOCK CASH :- BUY GODREJCP ABOVE 733 TGT 736-739-742 SL 726

समाप्ति तिमाही 30-09-2018 के लिए, कंपनी द्वारा रिपोर्टेड संगठित बिक्री – Rs 1847.75 करोड़ है, 47.74 % ऊपर, अंतिम तिमाही की बिक्री-Rs 1250.66 करोड़ से, और 15.81 % ऊपर पिछले साल की इसी तिमाही की बिक्री – Rs 1595.45 करोड़ से| नवीनतम तिमाही में कंपनी का Rs 66.58 करोड़ का रिपोर्टेड टैक्स पश्चात शुद्ध मुनाफा है|

click here for making a profit in the intraday stock market (इंट्राडे स्टॉक मार्किट में प्रॉफिट बुक करने के लिए यहाँ क्लिक):- Good advice for your Trade Stock

 

SENSEX | STOCK MARKET

IDEAL STOCK | विदेशी बाजारों से मिले अच्छे संकेतों के चलते बुधवार को घरेलू बाजार मजबूत खुले. निवेशकों ने चुनिंदा शेयरों में लिवाली की. लेकिन, मुनाफावसूली के दबाव में जल्द ही बाजार ने अपनी बढ़त गंवा दी. सुबह करीब 9.45 बजे बीएसर्इ का सेंसेक्स 22 अंक की गिरावट के साथ 33,869 अंक पर कारोबार कर रहा था. वहीं एनएसर्इ का निफ्टी 4.35 अंक के नुकसान के साथ 10,194.05 अंक पर था.

मंगलवार को तीस शेयरों वाला सेंसेक्स 33,891.13 अंक पर बंद हुआ था. बुधवार को यह 33,963.09 अंक पर मजबूत खुला. निवेशकों की लिवाली के झोंके में यह एक समय 34,050.12 अंक तक चला गया था. लेकिन, इस तेजी को यह कायम नहीं रख सका. मुनाफावसूली के चलते सुबह के कारोबार में इसने 33,659.92 अंक का निचला स्तर छुआ.

यह भी पढ़ें : गिरते बाजार में भी इन शेयरों में निवेश बढ़ा रहे हैं विदेशी निवेशक

मंगलवार को अमेरिकी बाजार बढ़त के साथ बंद हुए थे. बुधवार को एशियाई बाजारों के खुलने पर इसका असर दिखार्इ दिया. एशियार्इ बाजारों की मजबूत शुरुआत ने भी निवेशकों का मनोबल बढ़ाया. लेकिन, रुपये की गिरावट ने बाजार का मूड बिगाड़ा. सुबह के कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया लुढ़ककर 74 के स्तर को पार कर गया.

STOCK OPTION :- BUY HCLTECH 1030 CALL OPTION ABOVE 30 TGT 33-36-39 SL 24

वित्त मंत्री के बयान का भी असर बाजार पर दिखार्इ दिया. फंसे कर्जों के संकट से निपटने में अरुण जेटली ने केंद्रीय बैंक की भूमिका पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि आरबीआर्इ ने अनाप-शनाप कर्ज को रोकने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए. इससे आरबीआई और सरकार के बीच मतभेद काफी बढ़ गया है. बताया जाता है कि केंद्रीय बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल इस्तीफा दे सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : NBFC Share can give you great benefits

सुबह करीब 9.45 बजे सेंसेक्स की तीस कंपनियों में से 19 गिरावट के साथ कारोबार कर रही थीं. वहीं 11 में तेजी थी. बिकवाली की सबसे ज्यादा मार कोल इंडिया के शेयरों पर पड़ी. यह करीब 4 फीसदी तक नीचे आ गया. इसके अलावा टाटा स्टील, अडानी पोर्ट्स, पावर ग्रिड के शेयरों में ज्यादा बिकवाली देखने को मिली. वहीं, इंफोसिस, एचडीएफसी, यस बैंक और हीरो मोटोकॉर्प बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे. निफ्टी50 इंडेक्स की 38 कंपनियां नुकसान में थी. वहीं, 12 में बढ़त थी.

click here for making a profit in the intraday stock market (इंट्राडे स्टॉक मार्किट में प्रॉफिट बुक करने के लिए यहाँ क्लिक):- Good advice for your Trade Stock

गिरते बाजार में भी इन शेयरों में निवेश बढ़ा रहे हैं विदेशी निवेशक

IDEALSTOCK | विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने हाल ही में भारतीय शेयर बाजारों में इक्विटी की जमकर बिक्री की. घरेलू बाजार के प्रति उनका रुख इस साल नरम ही रहा है. हालांकि, बावजूद इसके वे चुनिंदा कंपनियों के शेयरों की खूब खरीदारी की है.

जुलाई से सिंतबर के दौरान विदेशी निवेशकों ने करीब 300 से अधिक कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी घटाई. कुछ कंपनियां ऐसी भी हैं, जिसमें विदेशी निवेशक बीती चार तिमाही से लगातार निवेश बढ़ा रहे हैं. इसमें से चुनिंदा शेयरों में कमजोरी बाजार में भी शानदार नतीजे पेश किए हैं.

खरीदारी इस सूची में टेक महिंद्रा, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस, एचईजी और जेके पेपर जैसे नाम शामिल थे. गौरतलब है कि बीते तीन महीनों में बीएसई सेंसेक्स और निफ्टी 50 इंडेक्स 11 फीसदी तक नीचे खिसक आए हैं. मिडकैप इंडेक्स 13 फीसदी टूटा है.

इसे भी पढ़ें: NBFC Share can give you great benefits

इन कंपनियों में निवेश का महत्व इसलिए भी बढ़ जाता है क्योंकि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक लगातार भारतीय बाजार में बिकवाली कर रहे हैं. बीते कुछ सप्ताह में उनकी बिकवाली की तीव्रता काफी ज्यादा बढ़ गई है. ऐसे में ये शेयर आने वाला सुनहरा कल लिख सकते हैं.

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने बीते तीन मीहनों में 32,000 करोड़ रुपये से अधिक के शेयर बेचे हैं. मगर ईटी आपको बता रहा है 20 ऐसे शेयर, जिसमें विदेशी निवेशकों की दिलचस्पी लगातार बढ़ रही हैं.

click here for making a profit in the intraday stock market (इंट्राडे स्टॉक मार्किट में प्रॉफिट बुक करने के लिए यहाँ क्लिक):- Good advice for your Trade Stock

 

Shocking News NBFC पर संकट से घट सकती है

IDEALSTOCK | गैर-बैकिंग फाइनेंस कंपनियों (एनबीएफसी) के लिए पैसा जुटाना मुश्किल हो गया है. उनकी कठिनाइयों का खामियाजा ऑटो कंपनियों को भुगतना पड़ सकता है. कार और दोपहिया खरीदने के लिए लोन लेने में ग्राहकों को दिक्कत आ सकती है.

लिक्विडिटी कम होने से ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री में फाइनेंसिंग के विकल्प घट रहे हैं. वित्त वर्ष 19 में ज्यादातर सूचीबद्ध ऑटो कंपनियों की ग्रोथ रेट दोहरे अंक में पहुंचने की उम्मीद थी. ज्यादातर कंपनियां पहली छमाही में यह ग्रोथ हासिल करने में कामयाब रहीं. मगर दूसरी छमाही में उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. दोपहिया वाहनों पर इसकी मार ज्यादा होगी. बीते पांच सालों से ऑटो लोन में एनबीएफसी की हिस्सेदारी काफी बढ़ी है. जगह-जगह एनबीएफसी की पहुंच ने पैसेंजर वाहन, ट्रैक्टर और कमर्शियल वाहनों की बिक्री बढ़ाई है.

इसे भी पढ़ें: 25 stocks fell 10-30 % in only 4 exchanging sessions

हालांकि, इस त्योहारी सीजन में एनबीएफसी ऑटो वाहन के ऑफर्स में कम दिलचस्पी दिखा रहे हैं. इससे उन कंपनियों की बिक्री पर करीब 10 से 15 फीसदी तक का असर पड़ सकता है. ऐसे में इस साल कमजोर पड़े ऑटो कंपनियों का पीई और भी ज्यादा घट सकता है. गौरतलब है कि इस साल ऑटो कंपनियों के शेयरों ने 12 से 56 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की है. टीवीएस मोटर्स को छोड़ दें, तो सभी दिग्गज ऑटो कंपनियों के पीई अनुपात, उनके दीर्घकालिक औसत के काफी नीचे खिसक आए हैं. क्रेडिट सुइस के अनुसार, वित्त वर्ष 14 तक सिर्फ 30 फीसदी दोपहिया वाहन ही लोन से खरीदे जाते थे. मगर वित्त वर्ष 18 तक यह आंकड़ा 50 फीसदी तक पहुंच गया. दूसरी तरफ, इस दौरान पैसेंजर गाड़ियों, ट्रैक्टर और कमर्शियल वाहनों की बिक्री में 5 फीसदी का इजाफा हुआ.

इस तेजी की मुख्य वजह एनबीएफसी है. दोपहिया वाहन कंपनियों की बिक्री में एनबीएफसी की हिस्सेदारी एक साल में 60 फीसदी बढ़ी है. पिछले पांचों में यह ग्रोथ 8 फीसदी रही है. इन कंपनियों ने 24 महीनों से कम अवधि
और छोटे कर्ज वाले लोन में भी दिलचस्पी बढ़ाई है. पैसेंजर वाहनों में फाइनेंसिंग स्तर 81 फीसदी तक है. हालांकि, कार सेगमेंट में यह हिस्सेदारी सिर्फ 17 फीसदी है. ट्रैक्टर सेगमेंट में एनबीएफसी की हिस्सेदारी काफी बेहतर है. इनके लिए प्रथामिकता के आधार पर कर्ज दिया जाता है. इसी वजह से बैंक इस कर्ज को आसानी से खरीद लेते हैं.

इसे भी पढ़ें: त्योहारी मांग घटने से हाजिर बाजार में सस्ता हुआ सोना

दोपहिया वाहनों की वॉल्यूम की ग्रोथ कंपनियों के अपने फाइनेंस के स्रोत पर निर्भर करेगी. उनके लिए एनबीएफसी का विकल्प तलाशना एक चुनौती है. हीरो मोटोकॉर्प, बजाज ऑटो और टीवीएस मोटर्स के पास फाइनेंस के अपने स्रोत हैं. इसमें सबसे ज्यादा नुकसान आयशर मोटर्स को होने के आसार हैं.सितंबर तिमाही में हीरो मोटोकॉर्प के प्रबंधन ने कहा कि बिक्री में हीरो फिनकॉर्प की हिस्सेदारी 11 फीसदी है. वित्त वर्ष 19 तक कंपनी की वॉल्यूम ग्रोथ 8 से 10 फीसदी तक रहने की उम्मीद है. हीरो को अपने खुद के स्रोत पर विश्वास है, मगर यह दीर्घावधि हल नहीं है. प्राइम डेटाबेस के अनुसार, हीरो फिनकॉर्प ने अप्रैल 2018 में कमर्शियल पेपर के जरिए 670 करोड़ रुपये जुटाए थे, जिसके लिए 6.91 फीसदी की ब्याज दर निर्धारित की गई थी. इसके बाद कंपनी ने हाल ही में 9.25 फीसदी की  ब्याज दर पर 350 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

इसे भी पढ़ें: TOP HOLDING 20 – 20 STOCK OF OCTOBER

इसी तरह टीवीएस मोटर्स की टीवीएस क्रेडिट सर्विसेस ने अप्रैल 2018 में 7.19 फीसदी ब्याज की दर से पैसा जुटाया था. मगर सितंबर 2018 में कंपनी के लिए कर्ज की दर बढ़कर 8.24 फीसदी हो गई थी. कंपनी ने 100 करोड़
रुपये जुटाए थे.केंद्रीय बैंक के आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 13 से वित्त वर्ष 18 के दौरान वाहन लोन 11.3 फीसदी की वार्षिक दर से बढ़ कर 1.89 लाख करोड़ रुपये का स्तर पार कर चुका है. कुल कर्ज में वाहन लोन की हिस्सेदारी वित्त वर्ष 13 में 1.92 फीसदी से बढ़कर वित्त वर्ष 18 में 2.47 फीसदी तक पहुंच गई है.

click here for making a profit in the intraday stock market (इंट्राडे स्टॉक मार्किट में प्रॉफिट बुक करने के लिए यहाँ क्लिक):- Good advice for your Trade Stock